Module 2 Entrepreneur & Entrepreneurship CSC Telecentre Entrepreneur Course (TEC)

अगर आप Telecentre Entrepreneur Course (TEC) के Module 2 Entrepreneur Entrepreneurship Exam को देने की सोच रहें हैं तो यह Article एक बार पूरा जरुर पढ़ें, यह पाठ्यक्रम विशेष रूप से उन व्यक्तियों के लिए बनाया गया है  जो या तो व्यावसायिक विचार रखते हैं या निकट भविष्य में अपना खुद का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं पाठ्यक्रम को आसान और आकर्षक बनाया गया है जिससे शिक्षार्थियों को उद्यमशीलता (Entrepreneurship) के मूल सिद्धांतों को प्राप्त करने में आसानी हो।

इस आर्टिकल को पढ़े समय आपको कुछ खास सवालो पर विशेष ध्यान देना है जैसे कि समझें और समझाएं कि उद्यमी कौन है, उद्यमी कितने प्रकार के होते हैं, और उद्यमी की प्रमुख विशेषताओं और प्रमुख गलतियों के बारे में बताएं, या Entrepreneur Entrepreneurship के क्या अंतर हैं क्युकी ये प्रश्न आपके Assignment exam में पूछे जा सकते हैं

जरूर पढ़े :- Module 1 Fundamentals Of Telecentres Entrepreneur Course (TEC)

मॉड्यूल का मुख्य उद्देश्य शिक्षार्थियों को व्यावसायिक का आवश्यक ज्ञान और अनुभव प्रदान करना है, जो उन्हें अपने व्यवसाय में सफल होने में मदद करेगा। इस Module का  मुख्य उद्देश उन व्यक्तियों को  व्यावसायिक अवसर और व्यावसायिक विकास प्रक्रिया का आकलन करना है जो एक सफल उद्यमी बनना चाहते हैं।

उद्यमी कौन हैं (Who is Entrepreneur in Hindi)

Entrepreneur यानि उद्यमी शब्द फ्रांसीसी शब्द “Entreprendre” से उत्पन्न हुआ है  जिसका अर्थ है “to undertake.” हिंदी में इसे “शुरू करना” कहते हैं। मरियम-वेबस्टर डिक्शनरी एक उद्यमी को परिभाषित करती है जो एक व्यवसाय या उद्यम के जोखिमों को व्यवस्थित, प्रबंधित और ग्रहण करता है। सरल शब्द में, एक उद्यमी एक व्यक्ति है, जो एक कर्मचारी के रूप में काम करने के बजाय, एक छोटा व्यवसाय चलाता है और साथ ही व्यावसायिक उद्यम, आइडिया को बिक्री के लिए प्रस्तुत करता है तथा सभी तरह के अच्छे व ख़राब जोखिमों और पुरस्कारों को मानता है।

जरूर पढ़े :- CSC TEC Certificate क्या है । TEC Certificate Registration कैसे करें ?

किरजनर (Kirzner) (1997) के नजरियें से देखा जाये तो उद्यमी (Entrepreneur) एक व्यक्ति है जो व्यापार के अवसरों के लिए सतर्क है और उद्यमी आपूर्तिकर्ताओं की पहचान करने में सक्षम है जो ग्राहक और एक मध्यस्थ के रूप में कार्य करते हैं।उद्यमी आमतौर पर बिजनेस लीडर के रूप में देखा जाता है और नए विचारों और बिजनेस प्रोसेस के प्रर्वतक के रूप में देखा जाता है उद्यमशीलता (Entrepreneurship) की अवधारणा बहुत लंबे समय से मौजूद है जो एक उद्यमी की दृष्टि से संबंधित है। पिछले दो दशकों से यह अवधारणा बहुत लोकप्रिय हो गई है।

Module 2 Entrepreneur & Entrepreneurship
Module 2 Entrepreneur & Entrepreneurship

उद्यमी के प्रकार ( Module 2 Entrepreneur Entrepreneurship)

Entrepreneurs (उद्यमियों) को विभिन्न प्रकारों में वर्गीकृत किया जाता है जो निम्नलिखित हैं:-

(1) Business Entrepreneur: व्यावसायिक उद्यमी वे व्यक्ति होते हैं जो एक नए उत्पाद (Product) या सेवा (Service) के बारे में सोचता है और फिर अपनी सोच को वास्तविक रूप में बदलने के लिए एक व्यवसाय का निर्माण करता हैं। उद्यमी एक नए व्यापार अवसर को विकसित करने के लिए अपनी खोज में उत्पादन और विपणन दोनों संसाधनों का उपयोग करते हैं।

(2) Trading Entrepreneur: व्यापरिक उद्यमी वह है जो व्यापार की गतिविधियों को चलता है और अनिर्मित कार्य से घबराता नहीं है। वह संभावित बाजारों की मांग की पहचान करता है, तथा अपने उत्पाद लाइन की मांग को उत्तेजित करता है और खरीदारों के बीच अपने उत्पाद के लिए जाने की इच्छा और रुचि पैदा करता है।

जरूर पढ़े :- CSC TEC Certificate Exam कैसे पास करें ?

(3) Industrial Entrepreneur: औद्योगिक उद्यमी किसी उत्पाद या सेवा का निर्माता होता है, जो ग्राहकों की संभावित जरूरतों की पहचान करता है और मार्केटिंग की जरूरतों को पूरा करने के लिए किसी उत्पाद या सेवा की खोज करता है तथा औद्योगिक के नए उत्पाद या सेवा का बनाने व पूरा करने की कोशिस करता है।

(4) Corporate Entrepreneur: कॉर्पोरेट उद्यमी वह व्यक्ति है जो कॉर्पोरेट उपक्रम को सही ढंग से चलने और प्रबंधित करने में अपने अभिनव तथा अपने कौशल का प्रदर्शन करता है। कॉर्पोरेट उपक्रम एक व्यवसाय संगठन है जिससे कुछ कानूनों या अधिनियम के तहत पंजीकृत किया जाता है, जो इसे एक अलग तरह की कानूनी इकाई प्रदान करता है।

(5) Agricultural Entrepreneur: कृषि उद्यमी वे उद्यमी हैं जो कृषि से सम्बंधित जैसे फसलों और उर्वरकों तथा कृषि के अन्य आदानों के विपणन के रूप में कृषि कार्य करते हैं।

उद्यमशीलता क्या है? (What is Entrepreneurship in Hindi)

Entrepreneurship kya hai: व्यावसायिक इतिहास के अंतिम समय में उद्यमशीलता यानि Entrepreneurship आर्थिक विकास का एक सबसे महत्वपूर्ण भाग है “उद्यमशीलता एक अवसर बनाने और वर्तमान में नियंत्रित संसाधनों की परवाह किए बिना इसे आगे बढ़ाने की प्रक्रिया है”। इसमें किसी नए व्यवसाय का विकास या नई तकनीकों का निर्माण तथा आर्थिक विकास और विकास की सुविधा शामिल है।

जरूर पढ़े :- CSC Telecentre Entrepreneur Course TEC Exam Assignment PDF

सरल शब्दों में उद्यमशीलता का अर्थ हैं “एक व्यावसायिक उद्यम को विकसित करने, व्यवस्थित करने और प्रबंधित करके जोखिम के साथ लाभ कमाने की इच्छा से हैं”। उद्यमशीलता, औपचारिक धन में सृजन की गतिशील प्रक्रिया है। संपत्ति व्यक्तियों द्वारा बनाई गई है जो इक्विटी, समय या कैरियर की प्रतिबद्धता के संदर्भ में प्रमुख जोखिमों को मानते हैं।

एक उद्यमी की क्या विशेषताएं हैं?(Module 2 Entrepreneur Entrepreneurship)

Entrepreneur (उद्यमी) एक प्रबंधक और नेता के रूप में कार्य करता है प्रत्येक उद्यमी के पास कुछ खास गुण होते हैं जो अन्य उद्यमियों के लिए सामान्य नहीं होते हैं। फिर भी कुछ समान विशेषताएं है जो सभी सफल उद्यमियों के भीतर पाई जाती हैं जो निम्नलिखित हैं:

  • Vision (दूरदर्शी) सफल उद्यमी के पास समय लक्ष्यों के अंतिम परिणाम देखने की क्षमता होती है।
  • Determination (दृढ़ निश्चय) उद्यमी को सफल होने के लिए अपने ऊपर पूरी तरह विश्वास होना चाहिए।
  • Organization (संगठन) सफल उद्यमी लक्ष्यों को पूरा करने के लिए सही टीम और संसाधनों को इकट्ठा करता है।
  • Motivation (प्रेरणा) सफल उद्यमी को कड़ी मेहनत करने की जरुरत होती है।
  • Passion (जुनून) सफल उद्यमी में अपने कार्य के प्रति जूनून होना चाहियें।
  • Adaptability सफल उद्यमी में किसी भी परिस्थितियों का सामना करने और समस्याओं का समाधान खोजने की क्षमता होनी चाहिए।
  • Commitment (प्रतिबद्धता) सफल उद्यमी के पास उन विचारों और विश्वासों को पूरा करने छमता होनी चाहियें।
  • Skill (कौशल) सफल उद्यमी के पास उत्पाद या सेवा को विकसित करने  के लिए आवश्यक कौशल होना चाहिए।
  • Flexibility (लचीलापन) सफल उद्यमी को व्यवसाय, कर्मचारियों और ग्राहकों की बदलती मांगों के अनुकूल होना चाहिए।

व्यवसायी की मुख्य गलतियाँ क्या हैं?(Module 2 Entrepreneur Entrepreneurship)

Entrepreneurs व्यवसायी की मुख्य गलतियाँ निम्नलिखत हैं:

  1. Poor management (बुरा प्रबंधन)
  2. Lack of experience (अनुभव की कमी)
  3. Financial control of low-quality (निम्न-गुणवत्ता का वित्तीय नियंत्रण)
  4. Marketing of low quality (निम्न गुणवत्ता का विपणन)
  5. Lack of a strategy based (आधारित रणनीति का अभाव)
  6. Poor inventory (खराब इन्वेंटरी)
  7. Setting incorrect price (गलत मूल्य निर्धारित करना)
  8. Inability to manage growth (विकास का प्रबंधन करने में असमर्थता)

उद्यमी और उद्यमशीलता में क्या अंतर है? (What is Differences Between Entrepreneur and Entrepreneurship)

Entrepreneur (उद्यमी)

  • Entrepreneur उद्यमी मूर्त लोग होते हैं तथा एक अभिनेता है।
  • उद्यमी उद्यम को शुरू करने वाला व्यक्ति होता है।
  • Entrepreneur उद्यमी एक व्यावसायिक अवसरों को प्रेरित करता है
  • तथा अपने विचारो से उस कार्य को करने के लिए एक जिम्मेदार व्यक्ति है।
  • उद्यमी एक व्यक्ति है जो जोखिम को सहन करता है उत्पादन के विभिन्न कारकों को जोड़ता है
  • और नए विचार लाता है और रचनात्मक नवाचार करता है।
  • जो नेतृत्व और प्रेरणा के माध्यम से अपने दृष्टिकोण की ओर एक उद्यम का नेतृत्व करता है।

Entrepreneurship (उद्यमशीलता)

  • उद्यमशीलता एक अमूर्तता है और एक अधिनियम है।
  • यह मौलिकता, क्षमताओं, कौशल और कठिनाइयों सहित निर्माण की एक प्रक्रिया है
  • उद्यमशीलता एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें उद्यम स्थापित करने के लिए विभिन्न कार्यों को शामिल किया जाता है।
  • उद्यमिता, उद्यमी द्वारा की जाने वाली गतिविधियों का एक समूह है।
  • यह एक ऐसा तरीका है जिसमें उद्यमी अपनी जनशक्ति का नेतृत्व करता है
  • तथा फर्म के लक्ष्यों की उपलब्धियों में एक अहम भूमिका निभाता है।

हमने क्या सीखा?

यहाँ पर हमने आपको उद्यमी और उद्यमशीलता (Entrepreneur and Entrepreneurship) के बारें बताया हैं कि उद्यमी कौन हैं, उद्यमी के प्रकार, उद्यमशीलता क्या है और उद्यमी और उद्यमशीलता में क्या अंतर है अगर आप इस लेख को ध्यान पूर्वक पढ़ते है तो आप बड़ी ही आसानी से Telecentre Entrepreneur Course (TEC) के Module 2 Entrepreneur Entrepreneurship Exam को पास कर पायगें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *