सुकन्या समृद्धि योजना । Sukanya Samriddhi Yojana In Hindi

Sukanya Samriddhi Yojana (SSY) अगर आप एक बेटी के पिता हैं। तो ये योजन आप को जरुर लेनी चाहिए। यह एक सरकारी योजना हैं। Sukanya Samriddhi Yojana भारत सरकार द्वारा समर्थित बचत योजना है जो बालिकाओं के माता-पिता को ध्यान में रखते हुऐ चलाई  गई हैं। इस योजना के अन्तर्गत माता-पिता को बालिका शिशु की भविष्य की शिक्षा और उनकी शादी के खर्च के लिए एक फंड बनाने के लिए प्रोत्साहित किया जाता हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना

इस योजना को वर्ष 2015 में प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा शुरू किया गया था। यह योजन केवल बालिकाओं के लिए हैं। सुकन्या समृद्धि योजना खाते को आप किसी भी पंजीकृत बैंक या पोस्टऑफिस में खुलवा सकते हैं।

योग्यता (Eligibility) Sukanya Samriddhi Yojana in Hindi

  • प्राकृतिक या कानूनी अभिभावक द्वारा बालिका शिशु के जन्म से 10 वर्ष की आयु प्राप्‍त करने तक बालिका शिशु के नाम पर खाता खोला जा सकता है।
  • जमाकर्ता योजना नियमावली के अंतर्गत बालिका शिशु के नाम पर केवल एक खाता खोल सकता और संचालित कर सकता है।
  • बालिका शिशु के प्राकृतिक या कानूनी अभिभावक को केवल दो बालिका शिशुओं के लिए खाता खोलने की अनुमति दी जा सकती है। बालिका शिशु के नाम पर तीसरा खाता दूसरे जन्म के रूप में जुड़वां बालिकाओं का जन्‍म होने या यदि पहले जन्म में ही तीन बालिकाओं का जन्‍म होने पर खोला जा सकता है।

जरूर पढ़े :- कन्या सुमंगला योजना के बारे में पूरी जानकारी 

Sukanya Samriddhi Yojana दस्तावेज (Document)

  • बालिका शिशु का जन्म प्रमाण पत्र (Birth certificate of girl child)
  • बालिका शिशु का आधार कार्ड अगर हैं तो
  • माता या पिता में से किसी एक का आधार कार्ड

Sukanya Samriddhi Yojana India In Hindi

Sukanya Samriddhi Yojana In Hindi

Sukanya Samriddhi Yojana India In Hindi

पोस्ट ऑफिस में Sukanya Samriddhi Yojana खाता कैसे खोले?

पोस्ट ऑफिस में सुकन्या समृद्धि योजना खाता खोलने के लिए आपको अपने एरिया के Post Office में जाना होता हैं। वह आपको एक सुकन्या समृद्धि योजना खाता फॉर्म दिया जाता हैं। आपको उस फॉर्म में बालिका शिशु के जन्म प्रमाण पत्र के अनुसार नाम, जन्मतिथि, पता इत्याद को भरना होता हैं। फॉर्म भरने के बाद प्राकृतिक या कानूनी अभिभावक द्वारा फॉर्म पर हस्ताक्षर किया जाता हैं।

फॉर्म के साथ बालिका शिशु का जन्म प्रमाण पत्र एवं प्राकृतिक या कानूनी अभिभावक के आधार की फोटो कॉपी जो जमा किया जाता हैं। अगर अभिभावक का खाता पहले से खुला हैं तो अभिभावक का आधार नहीं लिए जायेगा। फॉर्म भरने के बाद उसी दिन आप का खाता खोल दिया जाता हैं।

अब आप को जमा पर्ची द्वारा अपने सुकन्या समृद्धि योजना खाते में पैसे जमा करेने होते हैं। खाता खुलें के बाद हो सकता हैं। कि आप से पहली बार में न्यूनतम 1000 Rs. जमा कराया जाये। लकिन उसके बाद आप न्यूनतम INR। 250 / – और अधिकतम INR। एक वित्तीय वर्ष में 1,50,000 / – INR जमा कर सकतें हैं।

जरूर पढ़े :- जन सेवा केंद्र क्या है । जन सेवा केंद्र कैसें खोले।

देय ब्याज दरें (Interest payable)

वार्षिक आधार पर गणना की गई वार्षिक दर (01-04-2020 से प्रभावी) के साथ ब्याज दर 7.6%।

खाता खोलने के लिए न्यूनतम राशि और अधिकतम शेष राशि

न्यूनतम INR। 250 / – और अधिकतम INR। एक वित्तीय वर्ष में 1,50,000 / – INR

मुख्य विशेषताएं पोस्ट ऑफिस के अनुसार 

  • एक कानूनी अभिभावक / प्राकृतिक संरक्षक बालिका के नाम से खाता खोल सकता है।
  • एक अभिभावक एक बालिका के नाम पर केवल एक खाता और अधिकतम दो खाते दो अलग-अलग बालिकाओं के नाम से खोल सकता है।
  • जन्म तिथि से 10 वर्ष की आयु तक ही खाता खोला जा सकता है।
  • यदि वित्तीय वर्ष में न्यूनतम 250/ Rs. जमा नहीं किया जाता है, तो खाता बंद हो जाएगा और उस वर्ष के लिए जमा राशि के लिए आवश्यक न्यूनतम राशि के साथ 50 / – रुपये प्रति वर्ष के दंड के साथ पुनर्जीवित किया जा सकता है।
  • खाता खोलने की तारीख से पंद्रह साल की अवधि पूरी होने तक खाते में पैसा जमा किए जा सकता हैं।
  • आंशिक वापसी, पूर्ववर्ती वित्तीय वर्ष के अंत में शेष राशि का अधिकतम 50%, खाताधारक की 18 वर्ष की आयु प्राप्त करने के बाद लिया जा सकता है।
  • 21 साल पूरे होने पर खाता बंद किया जा सकता है।
  • विवाह के अवसर पर 18 वर्ष पूर्ण होने के बाद (विवाह की तिथि से 1 माह पहले और 3 माह बाद) सामान्य प्रीमेच्योर क्लोजर की अनुमति दी जाएगी।
  • ऑनलाइन जमा की सुविधा इंट्रा ऑपरेबल नेटबैंकिंग और आईपीपीबी सेविंग अकाउंट के माध्यम से उपलब्ध है।
  • Post Office

Sukanya Samriddhi Yojana के लाभ (Benefit)

सुकन्‍या समृद्धि योजना (SSY) योजना में निवेश को धारा 80सी के अंतर्गत आय कर से छूट मिलती है।

उच्च शिक्षा एवं विवाह के प्रयोजन हेतु खाताधारक की वित्तीय आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए, खाताधारक 18 वर्ष की आयु प्राप्त करने के बाद आंशिक आहरण सुविधा का लाभ उठा सकते हैं।

वित्तीय वर्ष में न्यूनतम 250/ Rs. जमा किया जाता है।

सुकन्या समृद्धि योजना एक सरकारी योजना हैं। इस लिए ये किसी भी निजी योजना की अपेछा अधिक सुरक्षित हैं।

उपरोक्त जानकारी केवल आपको योजना से अवगत करने के लिए हैं। योजना के आवेदन में लगातार परिवर्तन होते रहते हैं। इस लिए किसी भी योजना में आवेदन करने से पहले योजना से सम्बंधित विभाग में जा कर योजना की पूरी जानकारी ले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *